शादी के 35 साल तक किया इंतजार, 55 साल की उम्र में महिला ने दिया 3 बच्चों को जन्म

मां को हर इंसान की पहली गुरु माना जाता है। एक मां ही होती है जो संतान में संस्कारों का बीज रोपण करती हैं। मां अपने बच्चों की दुख, परेशानियां और उनके मन की आवाज बिना बताए ही सुन लेती हैं। जब कोई महिला पहली बार मां बनती है तो वह समय उसकी जिंदगी का सबसे हसीन पल होता है। मां बनने का सुख एक मां ही समझ सकती है। जिन महिलाओं को पहली बार मां बनने का सौभाग्य प्राप्त होता है उनकी खुशी का अनुमान कोई भी नहीं लगा सकता है।

Advertisements

वहीं ऐसी बहुत सी महिलाएं भी हैं जिनको शादी के कई सालों बाद भी संतान सुख की प्राप्ति नहीं हो पाती है, जिसकी वजह से वह अपने जीवन में संतान प्राप्ति की लालसा में तड़पती रहती हैं। संतान की लालसा में पति-पत्नी अक्सर कई मंदिरों और धार्मिक स्थलों पर जाकर माथा टेककर मन्नतें मांगते हैं। परंतु ऐसा कहा जाता है ना कि भगवान के घर देर है लेकिन अंधेर नहीं है। भगवान सच्चे मन से की गई प्रार्थना को जरूर पूरा करता है। आज हम आपको एक ऐसे मामले के बारे में जानकारी देने जा रहे हैं, जिसमें शादी के 35 साल बाद 55 साल की एक महिला ने 3 बच्चों को जन्म दिया।

खबरों के अनुसार ऐसा बताया जा रहा है कि केरल के मुवाटूपुझा टाउन में 55 साल की एक महिला ने 3 बच्चों को जन्म दिया है। इस महिला की शादी के 35 साल हो चुके थे परंतु उनकी कोई भी संतान नहीं थी और इसमें सबसे खास बात यह है कि इतने लंबे समय के बाद इस महिला ने एक साथ तीन बच्चों को जन्म दिया। 55 साल की सिसी और 59 साल के उनके पति जॉर्ज एंटीना अपने तीन बच्चों के जन्म के बाद बेहद खुश हैं। उनके घर में तीन गुनी खुशियां आई हैं।

See also  1 लाख 6 हजार फीट की ऊंचाई पर गुब्बारे की मदद से भेजा राष्ट्रीय ध्वज; अंतरिक्ष में लहराया तिरंगा; देखें वीडियो
Advertisements

आपको बता दें कि 22 जुलाई को 55 वर्षीय महिला सिसी ने 3 बच्चों को जन्म दिया। सिसी का ऐसा कहना है कि उन्होंने भगवान से बहुत प्रार्थना की थी और आखिर में उनको अपनी प्रार्थनाओं का जवाब मिल गया है। सिसी ने बताया कि उनके पास भगवान का शुक्रिया अदा करने के लिए शब्द नहीं हैं। उन्होंने कहा कि हम कई सालों से एक बच्चे की लालसा में भगवान से प्रार्थना कर रहे थे परंतु भगवान ने हमारी झोली खुशियों से भर दी। भगवान ने हमें तीन बच्चे दिए और तीनों ही बच्चे स्वस्थ हैं। आपको बता दें कि सिसी ने दो बेटे और एक बेटी को जन्म दिया है। डिलीवरी के कुछ दिनों के बाद सिसी को अस्पताल से डिस्चार्ज कर दिया गया था।

Advertisements

वहीं सिसी के पति जॉर्ज का ऐसा कहना है कि हमने भगवान से बहुत प्रार्थनाएं की थी। इसके अलावा वह लगातार डॉक्टरों से भी मिलते रहते थे और इलाज करवाते रहते थे। उन्होंने बताया कि केरल में इलाज कराने के बाद उन्होंने विदेशों में भी इलाज करवाया था लेकिन इलाज का कोई भी नतीजा निकल कर नहीं आया। तब उनके सब्र का बांध टूट गया और उन्होंने यह मान लिया था कि अब उनका कोई भी बच्चा नहीं होगा। जॉर्ज ने बताया कि उनकी और सिसी की शादी साल 1987 में हुई थी। वह गल्फ में काम कर चुके हैं।

सिसी का ऐसा कहना है कि शादी के 2 साल के बाद उन्होंने बच्चे के लिए कई इलाज करवाएं। उन्होंने बताया कि समाज इस तरह का है कि कोई औरत माँ ना बने तो उसे अजीब तरह की दृष्टि से लोग देखने लगते हैं। वह 35 सालों तक इस तरह की समस्या का सामना कर चुकी हैं लेकिन आखिर में उनको जो खुशी मिली वह उनके जीवन की सबसे बड़ी खुशी थी।

See also  ट्रेन में हुई मोहम्मद शमी की पत्नी से बत्तमीजी, हसीन जहां ने खुद बतायी अपनी दर्द भरी आपबीती
Advertisements

डि‍सक्‍लेमर: यह न्‍यूज सोशल मीडिया वेबसाइट से म‍िली जानकारियों के आधार पर बनाई गई है. newswoofer.com अपनी तरफ से इसकी पुष्‍ट‍ि नहीं करता है. “धन्यवाद” ]

Advertisements

Related posts

Leave a Comment