Ravina Tondon, 46 साल की उम्र में बनी नानी, रवीना ने शेयर किया इतनी उम्र में नानी बनने का अनुभव…

Ravina Tondon, 46 साल की उम्र में बनी नानी, रवीना ने शेयर किया इतनी उम्र में नानी बनने का अनुभव…

अपने फिल्मी करियर में एक से बढ़कर एक इंटरेस्ट और सुपरहिट फिल्में देने वाली एक्ट्रेस रवीना टंडन ने आज काफी नाम खो दिया है। अपने करियर के दौरान, उन्होंने वह सब कुछ हासिल किया जो इंडस्ट्री में आने वाली एक नई अभिनेत्री का सपना होता है। 80 और 90 के दशक में कई निर्देशक पहले से ही उन्हें अपनी फिल्मों में लेने की योजना बना रहे थे। उन दिनों उनकी फैन फॉलोइंग भी काफी बड़ी थी और बिना सोशल मीडिया के उन्होंने जबरदस्त लोकप्रियता हासिल कर ली थी।

Advertisements

वहीं अगर एक्ट्रेस की पर्सनल लाइफ की बात करें तो उन्होंने अपने करियर के चरम पर दो बेटियों को गोद लिया था और फिर यह बात भी सुर्खियों में आ गई। हालांकि, समय के साथ सब कुछ सामान्य हो गया और उन्होंने अपनी बेटियों की परवरिश भी काफी अच्छे से की। बता दें कि उन दिनों रवीना महज 21 साल की थीं और उस उम्र में दो लड़कियों को गोद लेना और उनकी देखभाल करना अपने आप में एक बड़ी बात है। और आपको बता दें कि आज की पोस्ट इन्हीं में से एक बेटी से जुड़ी है।

Advertisements

बता दें कि रवीना की गोद ली हुई बेटी पूजा अब मां बन गई है, जिसके बाद उन्होंने रवीना को नैनी भी बनाया है। बता दें कि आज रवीना करीब 46 साल की हैं और वो नैनी बनकर बेहद खुश भी हैं. एक इंटरव्यू में रवीना ने नैनी बनने की बात कही थी, जिसमें उन्होंने कहा था कि आमतौर पर जब नैनी शब्द लोगों के कानों में पहुंचता है तो 70-80 साल की महिला की छवि बनती है। एक्ट्रेस ने आगे कहा कि जब उन्होंने अपनी बेटी पूजा को गोद लिया था तब वह करीब 11 साल की थीं जबकि रवीना उस वक्त 21 साल की थीं। ऐसे में मां और बेटी के बीच महज 10 साल का फासला था।

Advertisements

और बेटी पूजा के बारे में उन्होंने कहा कि अब मैं और पूजा एक दोस्त की तरह हैं जहां पूजा भी एक बच्चे की मां है और वह एक बेटी की मां भी है जो खुद पूजा है। ऐसे में बेटी पूजा रवीना को अच्छे से समझ पाएगी और वहीं पूजा को भी उससे काफी कुछ सीखने को मिलेगा।

Advertisements

एक अन्य इंटरव्यू में रवीना ने उस साल का जिक्र किया था जब उन्होंने दो लड़कियों को गोद लिया था। रवीना ने कहा कि उस समय उन पर कई उंगलियां उठीं और कहा जा रहा था कि यह फैसला उनके करियर के लिए सही नहीं है. लेकिन खुद पर विश्वास करते हुए रवीना ने साल 1995 में दो लड़कियों को गोद लिया था, जिसके बाद रवीना ने इंटरव्यू में बताया कि यह भी उनकी जिंदगी का बहुत अच्छा फैसला था। रवीना ने अपने फैसले पर कहा कि जब भी वह अपनी दोनों बेटियों को देखतीं, तो उन्हें सकारात्मक ऊर्जा मिलती और यह उनकी नजर में हमेशा एक अच्छा फैसला था।

डि‍सक्‍लेमर: यह न्‍यूज सोशल मीडिया वेबसाइट से म‍िली जानकारियों के आधार पर बनाई गई है. newswoofer.com अपनी तरफ से इसकी पुष्‍ट‍ि नहीं करता है. “धन्यवाद” ]

Advertisements

admin