दुनिया के 8 ऐसे स्थान जहाँ ग्रेविटी है ही नहीं या न के बराबर है

वैज्ञानिकों का ऐसा मत है कि हमारी पृथ्वी पर सब कुछ गुरुत्वाकर्षण के नियम का पालन करता है। आप कोई भी चीज़ ऊपर की ओर फेकिए, वो अपने आप गुरुत्वाकर्षण की वजह से नीचे की ओर आकर गिरेगी।

पर सोचिए कभी ऐसा हो कि यह चीज़ उल्टी दिशा में होने लगे तो? क्या यह कोई चमत्कार है? या कुछ और? पर यकीन मानिए दुनिया में कुछ ऐसी जगहें हैं, जहां ग्रेविटी ज़ीरो होता है। आज इस लेख में हम ऐसी रहस्यमय जगहों की चर्चा करेंगे।

Advertisements

कवालशेत प्वाइंट: भारत के महाराष्ट्र राज्य के कोंकण इलाके में कवालशेत प्वाइंट नामक स्थान है, जहां आप जादुई रूप से वॉटरफॉल की धारा को नीचे से ऊपर की ओर जाते देख सकते हैं। इसे स्थानीय भाषा में नाना घाट भी बोला जाता है। यहां पहुंचने के लिए ट्रेकिंग करनी पड़ती है। लोगों का मानना है की यह ग्रेविटी न होने की वजह से है। हालांकि कुछ वैज्ञानिकों का मानना है कि ज्यादा हवा के दबाव के कारण ऐसा होता है।

भारत के लेह – करगिल मार्ग पर लेह से करीब 30 किमी की दूरी पर यह स्थान है। इसकी ऊंचाई समुद्रतल से 14000 फीट है। आप अपना वाहन यहां खड़ा करके जादू का आनंद ले सकते हैं। वैज्ञानिकों के अनुसार यह जगह गुरुद्वारा प्लेटेयू साहिब के निकट है, जिसको वजह से यहा उसका असर देखने को मिलता है। इसी वजह से इसका नाम मिस्ट्री हिल या ग्रेविटी हिल पड़ा। इसके ऊपर से उड़ने वाले जहाज़ भी अपनी ऊंचाई को बढ़ा लेते है। कई पायलट्स ने इसके शक्ति का एहसास किया है।

Advertisements

रिवर्स वॉटरफॉल, इंग्लैंड: हुबहू भारत के रिवर्स वॉटरफॉल की तरह एक वॉटरफॉल इंग्लैंड में भी है, जिसे जादुई करार दिया गया है। यह इंग्लैंड के डर्बीशायर पीक ज़िले में हेफ़ील्ड के पास स्थित है। यह वह स्थान है, जहाँ किंडर नदी एक निश्चित बिंदु तक नीचे की ओर बहती है और फिर तेज़ हवा के झोंकों के कारण ऊपर की ओर बहने लगती है जो पानी को ऊपर की ओर बहने के लिए मजबूर करती है।

Advertisements

 हूवर डैम, अमेरिका: 221.4 मीटर ऊंचा हूवर डैम पूर्वी अमेरिका के मुख्य पर्यटक आकर्षणों में से एक है। अगर आप इस जगह पर जाते हैं तो आप कुछ प्रयोग कर सकते हैं। आप जब पानी की बोतल खोलेंगे तो आपको जानकर हैरानी होगी कि पानी नीचे जाने की बजाय ऊपर की ओर चला जाता है। यही आप कोई हल्की वस्तु भी फेंकते है तो ऐसा ही होता है। हालांकि वैज्ञानिक का मत है कि इस डैम का निर्माण ऐसा है कि हवा का प्रवाह बहुत तेज़ हो जाता है। किनारों से हवा का प्रवाह ऊपर की ओर होता है।

Advertisements

माउंट अरगतास, तुर्की/आर्मेनिया: तुर्की और आर्मेनिया के बॉर्डर पर स्थित यह स्थान एक पॉपुलर टूरिस्ट डेस्टिनेशन है। हज़ारों लोग हर साल यहां रहस्यमयी एंटी ग्रेविटी को महसूस करने के लिए आते है। अगर आप अपने वाहन का इंजन बंद करके यहां मात्र खड़ा कर दे, तो वह हवा में ऊपर उठ जाएगी। आने वाले लोगो ने भी ऐसा ही महसूस किया है। नदी भी इस जगह उल्टी दिशा में बहती हुई देखी जा सकती है।

स्पूक हिल्स, अमेरिका: अमेरिका में फ्लोरिडा के लेक वेल्स रिज पर स्थित स्पूक हिल एक ऐसी जगह है जहां वाहन बिना चालक के चलते हैं। इस जगह पर ग्रेविटी के ठीक विपरीत होता है। यहां अगर आप रुकते हैं और अपनी कार पार्क करते हैं, तो यह स्वचालित रूप से ढलान की विपरीत दिशा में खींची जाती है। यह यहां गुरुत्वाकर्षण बल की अनुपस्थिति के कारण होता है।

Advertisements

सेंट इग्नेस मिस्ट्री, अमेरिका: ऐसा माना जाता है कि कुछ सर्वेक्षक 1950 में इस क्षेत्र की खोज कर रहे थे। जब वे इस स्थान पर पहुंचे तो उनके सभी उपकरणों ने काम करना बंद कर दिया। कुछ परीक्षणों के बाद जब उन्होंने खोजबीन की तो यह समस्या 300 फीट व्यास के घेरे में ही थी। तबसे यह स्थान काफ़ी चर्चा में रहा और लोगों का हुजूम इसको देखने आने लगा।

Advertisements

ओरेगन बोर्टेक्स, अमेरिका: अमरिका में ओरेगन के गोल्ड हिल में सार्डिन क्रीक पर स्थित, ओरेगन बोर्टेक्स वह जगह है, जहां असंभव सामान्य है और रोज़मर्रा के भौतिक तथ्य उलट जाते हैं। क्षेत्र के स्थानीय लोग इस साइट को निषिद्ध क्षेत्र कहते हैं। इसके अलावा, वहां से गुज़रने वाले यात्रियों ने अक्सर अपने घोड़ों को इस क्षेत्र को पार करने से मना करते देखा।

Advertisements

Photos Credit – Taken from Google, instagram and only Symbolic.

डि‍सक्‍लेमर: यह न्‍यूज सोशल मीडिया वेबसाइट से म‍िली जानकारियों के आधार पर बनाई गई है. newswoofer.com अपनी तरफ से इसकी पुष्‍ट‍ि नहीं करता है. “धन्यवाद” ]

Advertisements

Related posts